pexels kaboompics com 6393 scaled

आपके खूबसूरत अधर और लिपस्टिक

pexels kaboompics com 6393

द्वितीय महायुद्ध के दौरान इंग्लैंड में यह विवाद उठ खड़ा हुआ कि ब्रिटिश सेना मेंकार्यरत महिलाओं को लिपस्टिक लगाने की अनुमति दी जानी चाहिए अथवा नहीं। चर्चिल
ने इसके पक्ष में अपना मत देते हुए कहा – “ स्त्रियों का मनोबल बनाए रखने में
लिपस्टिक सहायक सिद्ध होगी। “ चर्चिल ने शायद ठीक ही कहा था। यदि स्त्री को यह
पता है कि वह दिखने में सुन्दर और आकर्षक लगती है तो उसमें स्वाभिमान और
आत्म-विश्वास उत्पन्न होते हैं, और चेहरे की शोभा बढ़ाने में अच्छी तरह लगायी गयी
लिपस्टिक की महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

सौन्दर्य के प्रति जागरूक हर स्त्री के लिए यह जानना आवश्यक है कि उसके
चेहरे और होठों की बनावट, उसके शरीर का वर्ण और वस्त्र आदि के अनुसार उसे किस
रंग की लिपस्टिक लगानी चाहिए।

लिपस्टिक होठों को सुन्दर बनाने के लिए लगायी जाती है, लेकिन यदि उसे
सुघड़ता से न लगाया जाए तो चेहरा भद्‌दा भी लगने लगता है। अतः हर स्त्री को
लिपस्टिक लगाने का सही ढंग आना चाहिए। लिपस्टिक लगाने से पहले क्लीन्जिंग मिल्क
को थोडी-सी रूई में लेकर उसे होठों पर लगाकर अच्छी तरह से साफ कर लेना चाहिए।
यदि होंठ साफ न होंगे तो होठों पर चमक नहीं आयेगी। होठों को साबुन से साफ नहीं
करना चाहिए क्योकि होठों की त्वचा बहुत कोमल होती है। होठों को साफ करने के बाद
फाउन्डेशन कीम लगाएं। सूखने दें। इसके बाद लिपस्टिक लगाएं। पहले ‘आउट लाईन’
बनाएं और फिर बीच में लिपस्टिक लगाएं। अच्छी लिपस्टिक ब्रश द्वारा लगती है, पर इसके
लिए अभ्यास की आवश्यकता है। यदि लिपस्टिक फैल जाए तो होठों पर पहले पाउडर
लगाकर सुखा लें फिर लिपस्टिक लगाएं। खड़े होकर लिपस्टिक लगाते समय प्रायः हाथ
हिल जाते हैं जिससे लिपस्टिक फैलने का डर रहता हे। शीशे के सामने श्रृंगार मेज पर
कुहनी टिका कर लिपस्टिक अच्छी तरह लगती है। पहले ऊपर के होंठ पर और बाद में
नीचे के होठों पर लिपस्टिक लगानी चाहिए। यदि सही ढंग से कमशः हल्की और गहरे
रंग की लिपस्टिक का प्रयोग एक साथ किया जाए तो होठों पर और भी निखार आ जाता
है। पहले हल्के रंग की लिपस्टिक लगाएं और दोनों होठों के बीच में टिशू पेपर लगाकर
अनावश्यक लिपस्टिक छुड़ा दें। फिर गहरे रंग की लिपस्टिक लगाएं। दोनों रंगों को एक
साथ करने के लिए ब्रश का प्रयोग करना चाहिए। लिपस्टिक लगाने के बाद होठों पश्जरा-सी वैसलीन कीम लगा देने से होठों पर चमक आ जाती है। लिपस्टिक के प्रयोग से
पतले होंठ मोटे और मोटे होंठ पतले बनाए जा सकते है तथा होठों का आकार बदला जा
सकता है। यदि चेहरा छोटा हो तो ऊपर के होंठ पर गहरे रंग की और निचले होंठ पर
हल्के रंग की लिपस्टिक लगानी चाहिए। यदि होंठ पतले हों तो ऊपर के होंठ पर हल्के
और नीचे के होंठ पर गहरे रंग की लिपस्टिक लगानी चाहिए। मोटे होठों को पतला बनाने
के लिए होठों की प्राकृतिक बनावट रेखा के भीतर ही आउट लाईन बनाकर लिपस्टिक
भरना चाहिए। इसके विपरीत पतले होठों को मोटा बनाने के लिए होठों की प्राकृतिक रेखा
के कुछ बाहर तक आउट लाईन बनाकर लिपस्टिक भरना चाहिए। असमान आकार के
होठों को चेहरे के अनुकूल आकार देने के लिए इच्छानुसार आउट लाईन’ बनाकर
लिपस्टिक भरने से होठों को नया आकार दिया जा सकता है।

गाढ़ी लिपस्टिक लगाने के लिए दो कोट लगाए जा सकते हैं। रात को सोने से पूर्व
लिपस्टिक को उतार देना चाहिए। हमेशा अच्छी किस्म की लिपस्टिक का प्रयोग करना
चाहिए। सस्ती और घटिया किस्म की लिपस्टिक होठों की कोमल त्वचा को हानि पहुंचाती
है।

लिपस्टिक के रंग का चुनाव आयु, अवसर और उस्त्रों के अनुरूप करना चाहिए।
किशोरियों को सदा “नेचुरल शेड’ की लिपस्टिक अच्छी लगती है। इसी प्रकार नौकरी पेशा
महिलाओं को कार्यालयों में बहुत गाढ़े रंग की लिपस्टिक का प्रयोग नहीं करना चाहिए।
गोरे रंग की 48 से 25 वर्ष की महिलाओं पर गुलाबी रंग की लिपस्टिक अच्छी लगती है।
पीले रंग के चेहरे पर ‘लाख’ के रंग की लिपस्टिक फबती है! सांवले रंग पर नारंगी रंग
की लिपस्टिक सुन्दर लगती है। 25 से 50 वर्ष की आयु की स्त्रियों को हल्के रंगों का
चुनाव करना चाहिए। आंखों के रंग पर भी लिपस्टिक का चुनाव निर्भर करना है। जैसे –
भूरी आंखों पर गुलाबी, काली आंखों पर हल्की सुर्ख, नीली आंखों पर ‘लाख’ के रंग और
मटमैली आंखों पर नारंगी रंग की लिपस्टिक लगानी चाहिए। इसी प्रकार बालों के रंग के
अनुसार भी लिपस्टिक का चुनाव किया जा सकता है। काले बालों वाली स्त्री पर नारंगी
रंग, सफेद बालों वाली स्त्री पर गुलाबी और सुनहरे बालों वाली स्त्री पर ‘लाख’ रंग की
लिपस्टिक अच्छी लगती है।

इसी प्रकार वस्त्रों के अनुसार भी लिपस्टिक का चुनाव करना चाहिए। नारंगी रंग

की साड़ी के साथ गुलाबी और गुलाबी साड़ी के साथ सुर्ख रंग की लिपस्टिक अच्छी नहीं
ज्नगली | छण रंगे ख्े जाज्सों के स्याश “मैजा’ करती लिएण्लिक का क्षतात थोज्या क्ल्िन होता है