pexels engin akyurt 5209776 scaled

हरक्यूलिस दिलचस्प जानकारी

pexels engin akyurt 5209776

‘हरक्यूलिस‘ नाम से ही मन में एक ऐसे व्यक्ति की छवि उभरती है, जो अत्यन्त बलवान और शक्ति-सम्पन्न हो। जांबाजी से भरे हैरत अंगेज कारनामों और करिश्मों का यह कथा-नायक बहुत बरस पहले ग्रीक में पैदा हुआ।
ग्रीक में आज भी हरक्यूलिस को देवताओं की तरह पूजा जाता है। उसकी बहादुरी के किस्से तो पूरी दूनिया में मशहूर हैं। ग्रीक के बच्चे अपने बचपन से ही हरक्यूलिस के किस्से सुन-सुनकर उसे अपना आदर्श-पुरूष मान लेते हैं। उनके लिए हरक्यूलिस ‘सुपरमैन‘ है, जो हर असंभव कार्य को संभव कर सकता है।
हरक्यूलिस का बचपन बहुत कष्टों और तकलीफों से परिपूर्ण था। उसके माता-पिता जीयस और हेरा किसी अज्ञात कारणों से हरक्यूलिस से नफरत करते थे। उन्होंने बचपन में ही उसकी हत्या करने के लिए दो अत्यन्त जहरीले सांप हरक्यूलिस पर छोड़ दिए। लेकिन ‘जांको राखे साइयां, मारि सके न कोय‘ कहावत को चरितार्थ करता हुआ हरक्यूलिस सुरक्षित बच गया।
युवावस्था में हरक्यूलिस ने मेगारा नाम की एक बेहद खुबसूरत युवती से विवाह किया, मेगारा से हरक्यूलिस को एक पुत्र पैदा हुआ, किन्तु हरक्यूलिस के माता-पिता ने उसे बहला फुसलाकर उससे अपनी पत्नी की हत्या करवा दी।
हरक्यूलिस के इस कृत्य की खबर जब तत्कालीन ग्रीक सम्राट डेलफी को लगी तो वह हरक्यूलिस पर अत्यन्त क्रुद्ध हुआ। डेलफी उसे मृत्यृदंड देना चाहता था। लेकिन दरबारियों के समझाने बुझाने पर किंग डेलफी ने हरक्यूलिस को बारह वर्ष के लिए अपने राज्य से निष्कासित कर किंग युरेसथियस की सेवा में भेज दिया।
किंग युरेसथियस ने हरक्यूलिस को बारह ऐसे दुष्कर कार्य बताए, जिन्हें पूर्ण करना किसी भी सामान्य आदमी के लिए असंभव था। लेकिन हरक्यूलिस ने बड़े कौशल और दक्षता से वह सभी कार्य पूर्ण किए। इन बारह बहादुरी-पूर्ण साहसिक कृत्यों ने ही हरक्यूलिस को एक हीरो की तरह विख्यात कर दिया।
एक खंूखार शेर के साथ मल्ल-युद्ध करके बिना किसी हथियार के हरक्यूलिस ने शेर को मौत के घाट उतार दिया। यहीं से उसके शौर्य और पराक्रम का सफर शुरू हुआ। इसके बाद उसने ‘हाइड्रा‘ नामक नौ सिर वाले दानव का वध किया।
हरक्यूलिस का एक और हैरत अंगेज हंगामा था-सम्राट आगस्टस के तीन सौ बैलों के अस्तबल की सफाई। यह अस्तबल इतना विशाल था कि पिछले तीस सालों से इसकी सफाई नहीं हो सकी थी। हीरो हरक्यूलिस ने इस अस्तबल की सफाई के लिए दो नदियों का रूख अस्तबल की तरफ मोड़ दिया और एक दिन में समूचे अस्तबल को जगमगा दिया।
हरक्यूलिस के अन्य वीरतापूर्ण कार्यो में यूरेसथियस को चैकीदारी करने वाला ‘सिरबेरस‘ नामक विलक्षण कुŸाा लाकर देना, हैसपेराइडस से तीन ‘गोल्डन-एप्पल‘ लाना, जिरियान का सुदूर पश्चिमी द्वीपों मे खोए हुए बैलों को खोज निकालना, ‘स्टायमफ्लस‘ नामक खतरनाक परिन्दों का मारना, नरभक्षी घोड़ों को पकड़ना और अमेजिन नदी की रानी हिप्पोलायटा के अद्वितीय बेल्ट को वापस करना जैसे काम शामिल है।
आज भी ग्रीक में हरक्यूलिस को जांबाजी, बहादुरी, शौर्य, पराक्रम और बुद्धिमानी का जीवन्त प्रतीक माना जाता है।
  