pexels still pixels 3699921 scaled

देश हमारा हमको प्यारा है

pexels still pixels 3699921


देश हमारा हमको प्यारा
इसकी गौरव-गाथा अमर है।

इसमें अलग-अलग भाषाएं
जैसे नदियों की धाराएं,
लेकिन सागर का हृदय एक
सबकी एक हुई आशाएं।

चाहे किरणें अलग-अलग हैं,
किंतु सबका एक दिनकर है।

अलग-अलग हैं प्रांत हमारे,
किंतु सभी भारतवासी हैं,

फूट नहीं पड़ सकती हममें,
हम अटूट हैं, अविनाशी हैं,
चाहे तारे अलग-अलग हैं,
किंतु एक सबका अंबर है।

अलग-अलग हैं रूप हमारे,
बहुरंगी रूचियां रहती हैं,
किंतु सब खुशबुएं हमारी
एक हवा में ही बहती हैं
चाहे फूल उठगें या कांटे
किंतु एक उपवन का घर हैं।